Blog Details Title

Tumne apna ghutna hamaari garden se nahi hataya

हम 401 साल में कुछ नही बन पाए
जो सपने देखे थे उनको सच नही करपाये
क्यो की तुमने अपना घुटना
हमारी गर्दन पर रखा।।
हम बहुत काबिल थे उन स्कूलों से बेहतर शिक्षा के
जिनको तुमने पूरी ग्रांट नही दी
क्यो की तुमने अपना घुटना
हमारी गर्दन से नही हटाया।।
हम संस्थाएं चला सकते थे
सड़को पर धक्के खाने में बजाय
क्यो की तुमने अपना घुटना
हमारी गर्दन से नही हटाया।।
हमारे अंदर हुनर था
हम वो सब कुछ कर सकते थे
जो कोई और करता
परन्तु हम तुम्हारा घुटना
अपनी गर्दन से नही हटा पाए।।
माइकल जोर्डन ने सब खिताब जीते
पर।तुम उसके बारे में
सब कुछ गलत ढूंढ़ते रहे
क्यो की तुम को अपना घुटना
हमारी गर्दन पर रखना था।।
गोरे रंग की औरते घरो से बाहर निकलती
ये द्वखने की
एक काली महिला ओपरा
टी वी शो चलाती है

ओपरा के साथ बहुत अन्नाय
क्यो की तुम अपना घुटना
हमारी गर्दन से नही हटाना चाहते थे।।
एक काला आदमी
जिसको उसकी अकेली मा ने पाला
वो स्वयम को
शिक्षित करता है
अगके बढ़ता है ओर राष्ट्रपति के आफिस तक पहुंचता
है तुम उससे उसका उसका जन्म प्रमाण पत्र मांगते हो
क्यो की
तुम अपना घुटना हमारी गर्दन से नही हटाना चाहते थे।
आज हम पूरी दुनिया मे मार्च कर रहे है
क्यो की
हमारा दम घुट रहा है
हम साँस नही लेपा रहे है।
हमारे फेफड़ों में कोई परेशानी नही है
तुम्हारा घुटना हमारी गर्दन पर है
ये घुटना तुम हटाओ।।
हम को तुम्हारा सहारा नही चाहिए
हम इस काबिल है कि
हम स्वयँ ही आगे बढ़ जाये।
बस तुम अपना घुटना हमारी गर्दन
से हटा लो।।
जॉर्ज फ्लॉयड की कहानी काले लोगो की कहनी
रेव अल शार्पटन
सिविल राइट एक्टिविस्ट

  • Related Tags:

Leave a comment