Blog Details Title

कोडिंग

आज के20 साल बाद बहुत सारी ऐसी नौकरियां जो आज उपस्थित है  नहीं होगी | आज भी पूरी दुनिया दो भागों में  बटी है एक वह लोग जो निर्देश देते हैं| आधे से ज्यादा वह लोग हैं जो निर्देश लेते हैं किसी ने क्या खूब कहा है कि आज अगर अपने सपनों को पूरा करने के लिए काम नहीं करोगे तो कल दूसरों के सपनों को पूरा करने के लिए काम करना पड़ेगा |लेकिन काम तो करना  ही पड़ेगा इसमें कोई छूट नहीं है |आज भी बहुत कम प्रतिशत लोग ऐसे हैं जो अपने मनपसंद का काम करते हैं और दूसरों को निर्देश देते हैं| यह वह लोग हैं जो आर्थिक रूप से संपन्न जिन्होंने अपने आप को किसी हुनर बैठा लिया है और जो दूसरों के पीछे नहीं भागते  अपने हुनर को दिखाते हैं|

 आजकल बहुत लोग कोडिंग के बारे में सुन रहे होंगे | बहुतों को पता ही नहीं है| मुझे भी पहले  पता नहीं था| लेकिन एक बात मालूम थी कि कंप्यूटर आपकी मेरी भाषा नहीं जानता उसकी अपनी भाषा होती आपको जो भी कंप्यूटर से कहना है उसको उसी की भाषा में समझाना पड़ेगा| और तभी वह आपका कमांड मानेगा और यह बात तो साफ है कि आज जीवन के हर क्षेत्र में हम बिना कंप्यूटर के काम नहीं कर सकते| जैसा कि भारत में भी ई गवर्नेंस  का काम बहुत तेजी से चल रहा है |आपने अक्सर सुना होगा पैसा लोगों के खाते में सीधा पहुंच गया या आप को सैलरी बैंक से ही मिल गई यह आपने एटीएम भीम एप गूगल पर या और भी कई ऐसे माध्यम है जैसे आप अपना पैसा दे देते हैं इंटरनेट बैंकिंग यह सारी चीज है कंप्यूटर के माध्यम से की जाती है हमें और अगर हमें उसकी भाषा अच्छी तरह आती है तो इन कामों को हम काफी बेहतर तरीके से कर सकते हैं एक  बात जो मैं समझाने की कोशिश  कर रही हूं कि  कोडिंग क्या है क्या इसका बच्चों को सिखाना फायदेमंद है और तभी मुझे कुछ इसके बारे में ज्यादा जानने का मौका मिला और कुछ बातें बहुत अच्छी लगी

 नंबर वन की बच्चों  को सीखने की 9 साल की उम्र से पहले 95 प्रतिशत होती है एक बहुत अनोखी बात समझ में आई की इंडस्ट्रियल रिवॉल्यूशन से पहले दुनिया के किसी भी स्कूल में गणित नहीं पढ़ाई जाती थी लोगों ने धीरे-धीरे इस बात को समझा और गणित के महत्व को समझते हुए दुनिया के हर स्कूल में 1 से 10 तक गणित को अनिवार्य कर दिया |जोड़ बाकी गुणा भाग सब को करना पड़ता है आप चाहे  मजदूर पढ़े लिखे हो बस दूर हो पढ़े-लिखे हो मजदूर महिला हो या पुरुष पैसा तो देना पड़ेगा हिसाब तो करना पड़ेगा यानी कि जीवन में कोई चांस नहीं है कि गणित से बचा और जो बचता है वह मरता है इस तरह से आज गणित का महत्व बहुत अधिक है पहली से पांचवी तक बच्चे हिंदी अंग्रेजी और गणित पढ़ते हैं यह कहो कि आने वाले समय में  कोडिंगका भी यही हाल होने वाला है तो कोई अतिशयोक्ति नहीं होगी क्योंकि आने वाले समय में  5% मशीन को कमांड देते हैं और 95 प्रतिशत वो लोग होंगे कमांड को क्रियान्वित करते हैं| माता पिता खास तौर पर शहर में रहने अपने बच्चों के लिए कोडिंग को एक जरूरी शिक्षा समझते हुए बच्चों को एडमिशन कराने का प्रयास कर रहे हैं| सारे बच्चे कंप्यूटर को लेकर उत्साहित रहते हैं और यह उत्साह 1414 से पहले 14 साल से पहले उनके भविष्य की दिशा बदलने में सहायक हो सकता इसलिए मेरा आपसे अनुरोध है कि आप कोडिंग को जाने और अगर आपके घर में 6 से 14 साल के बच्चे हैं तो आप उनको ऑनलाइन कोडिंग क्लासेस के लिए रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं यह एक नया प्रयोग है परंतु बहुत प्रभावशाली है

 ज्यादातर लोग जो दूसरों के लिए देशों को पालन करते हैं और उनके लिए काम करते जैसा कि रोबिन शर्मा कहते हैं कहते हैं जो स्पार्टा के वरीयर  थे जो लड़ते थे वह सैनिक युद्ध से पहले बहुत सारी तैयारी करते थे उसके परिणाम उसके परिणाम कमजोर खाते थे जीत निश्चित करते थे|अगर जीवन को सही तरह से जीना है तो अनुशासन और स्वशासन बहुत जरूरी है आपको एक नियम बनाना पड़ेगा सुबह उठने का उसके बाद दिन की शुरुआत उसके बाद सारे का और यह आपकी दिमाग को एक सही तरह की दिशा दे देगा

  • Related Tags:

Leave a comment